Monday, April 12, 2021

गर्मी भगाने का एक ‘नैचुरल’ उपाय है नारियल पानी, टेस्टी भी और हेल्दी भी

- Advertisement -


कच्चे नारियल को छील कर ही उसमें से नारियल पानी पीया जाता है. Image-shutterstock.com

बहुत ही कम फैट वाले नारियल पानी (Coconut Water) में 94 प्रतिशत पानी होता है. यह पूरी तरह से प्राकृतिक तौर पर तैयार हुआ लिक्विड होता है.

(विवेक कुमार पांडेय)

बढ़ते तापमान की बातें पिछले कई दिनों से चल रही हैं और आने वाले दिनों में यह चर्चा और बढ़ेगी. चूंकि हम खाने पीने की बात करते हैं तो जाहिर सी बात है आज भी मैं ऐसी ही एक चीज की जानकारी देने जा रहा हूं जो गर्मी को काटने का अच्छा जरिया है. वैसे तो नारियल पानी (Coconut Water) के बारे में सब जानते ही हैं लेकिन आज मैं इसके खास फायदे बताने जा रहा हूं. दुनिया के लगभग हर कोस्टल एरिया में नारियल पानी का खूब इस्तेमाल होता है. इसे ‘डाब’ भी पुकारा जाता है. भारत में यह पिछले कई सदियों से उगाया और इस्तेमाल किया जाता है. नारियल की चर्चा तो हमारे वेदों में विस्तार से है. साथ ही हिंदू रीति-रिवाजों में भी नारियल अहम होता है. हवन में भी पूरे नारियल का इस्तेमाल किया जाता है.

कच्चे नारियल को छील कर ही उसमें से नारियल पानी पीया जाता है. इसे जीवन रक्षक पेय भी माना जाता है क्योंकि दूसरे विश्व युद्ध के दौरान घायल सैनिकों के इलाज में ‘इमरजेंसी प्लाज्मा ट्रांसफ्यूजन’ के तौर पर इसे इस्तेमाल किया जाता था. आमतौर पर इसे ताजा छील कर ही पीना लोग पसंद करते हैं. हालांकि आजकल बोतल बंद नारियल पानी भी बाजार में उपलब्ध है. बहुत ही कम फैट वाले नारियल पानी में 94 प्रतिशत पानी होता है. यह पूरी तरह से प्राकृतिक तौर पर तैयार हुआ लिक्विड होता है.

इसे भी पढ़ेंः ये ‘खस’ है बहुत खास, फायदे सुन पीना कर दें शुरूएक नारियल को पूरी तरह से तैयार होने में 10 से 12 महीने लग जाते हैं जबकि नारियल पानी पहले ही यानी 5-6 महीने में तैयार हो जाता है. पूरे देश में अब यह उपलब्ध है. एनसीआर में आप सड़कों किनारे इसके अंबार लगे देख सकते हैं. एक कप यानी 240 एमएल नारियल पानी में 46 कैलोरी होती है. इसके अलावा 9 ग्राम कार्ब, 3 ग्राम फाइबर, दो ग्राम प्रोटीन, विटमिन सी, मैग्निशियम, मैग्नीज, पोटैशियम, सोडियम और कैल्शियम भी होता है. हालांकि नियंत्रण में रह कर ही इसका इस्तेमाल होना चाहिए वरना कई बार इसके साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं.

पेट खराब होने के दौरान अक्सर चिकित्सक सलाह देते हैं कि नारियल पानी पीया जाए. यह होता भी बहुत अच्छा है. आपको कमजोरी की स्थिति में इसके सेवन से अच्छे परिणाम मिलते हैं. हालांकि, इसको लेकर कई तरह के दावे किए जाते हैं लेकिन अभी भी कई सकारात्मक दावों का वैज्ञानिक प्रमाण मिलना बाकी है.









Source link

इसे भी पढ़ें

खुशी दिखाने और छिपाने में क्या फर्क है?

खुशी दिखाने और छिपाने में फर्क...जब घर पर पड़ोसी आए, तो दिखानी पड़ती हैऔरअगर पड़ोसन आए, तो छिपानी पड़ती हैविकास, रोहतक Source link

BAFTA में कहर ढाने को तैयार प्रियंका चोपड़ा, कातिल अदाओं पर हार जाएंगे दिल

बॉलिवुड से लेकर हॉलिवुड तक अपने टैलेंट का परचम लहराने वाली प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) अक्सर अपने अदाओं से फैंस को दीवाना बनाती...
- Advertisement -

Latest Articles

खुशी दिखाने और छिपाने में क्या फर्क है?

खुशी दिखाने और छिपाने में फर्क...जब घर पर पड़ोसी आए, तो दिखानी पड़ती हैऔरअगर पड़ोसन आए, तो छिपानी पड़ती हैविकास, रोहतक Source link

BAFTA में कहर ढाने को तैयार प्रियंका चोपड़ा, कातिल अदाओं पर हार जाएंगे दिल

बॉलिवुड से लेकर हॉलिवुड तक अपने टैलेंट का परचम लहराने वाली प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) अक्सर अपने अदाओं से फैंस को दीवाना बनाती...

बस थोड़ा और इंतजार, Google Pixel 5A 5G लॉन्च होने के लिए तैयार, देखें खूबियां

हाइलाइट्स:गूगल के इस अपकमिंग स्मार्टफोन का बेसब्री से इंतजारबजट फ्लैगशिप सेगमेंट का यह फोन शानदार फीचर्स के साथगूगल ने अपने इस फोन लॉन्च...

Election Commission News: सुशील चंद्रा का अगला मुख्य निर्वाचन आयुक्त बनना तय, जानिए कौन हैं यह

नई दिल्लीनिर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा का देश का अगला मुख्य निर्वाचन आयुक्त बनना तय हो गया है। सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी...