Wednesday, August 4, 2021

काम की बात: पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करने से पहले सिबिल स्कोर और रीपेमेंट कैपेसिटी सहित इन 6 बातों का रखें ध्यान

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Business
  • Keep These 6 Things In Mind, Including CIBIL Score And Repayment Capacity, Before Applying For A Personal Loan

नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पैसों की जरूरत पड़ने पर कई लोग पर्सनल लोन का रुख करते हैं। इसके जरिए अचानक जरूरत पड़ने पर आप पैसों का इंतजाम कर सकते हैं। इसमें आपको किसी संपत्ति को भी गिरवी रखने की जरूरत नहीं होती है। हालांकि पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करने से पहले आपको अपने सिबिल स्कोर और कितना लोन लेना है जैसे कई पहलुओं पर ध्यान देना चाहिए। हम आपको ऐसी 6 बातों के बारे में बता रहे हैं जिनका ध्यान पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करने से पहले आपको रखना चाहिए।

जरूरत से अधिक उधार न लें
अपनी जरूरत का सही हिसाब लगातार उतना ही लोन लें जितने की आपको जरूरत है। कई बार देखा जाता है कि आपको जितने पैसों की जरूरत है आप उससे ज्यादा लोन अमाउंट के पात्र होते हैं। ऐसे में कई लोग जरूरत से ज्यादा लोन ले लेते हैं। ज्यादा उधार लेने का असर आपके फाइनेंशियल गोल्स पर पड़ता है। इसके अलावा अगर आप समय पर लोन नहीं चुका पाते हैं तो आपको फाइन भी भरना पड़ता है। इतना ही नहीं इससे आपका सिबिल स्कोर भी खराब होता है। जिससे आपको भविष्य में लोन लेने में परेशानी हो सकती है।

ब्याज दरों के बारे में पता करें
किसी भी जगह पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करने से पहले आपको इसकी ब्याज दरों के बारे में पता करना चाहिए। सभी बैंको और NBFCs की ब्याज दरों पर ध्यान दें और जहां कम ब्याज पर लोन मिल रहा हो, वहीं अप्लाई करें। इसके अलावा जिस बैंक में आपका अकाउंट है वहां प्री-अप्रूव्ड लोन के बारे में भी पता कर सकते हैं। कई बार बैंक अपने ग्राहकों को प्री-अप्रूव्ड लोन की सुविधा भी देते हैं। ये बैंक कम ब्याज दर पर दे रहे लोन…

बैंक ब्याज दर (% में)
यूनियन बैंक 8.90
सेंट्रल बैंक 8.95
IDBI 9.50
SBI 9.60
बैंक ऑफ बड़ौदा 10.00
HDFC 10.25
ICICI 10.50

सिबिल स्कोर की करें जांच
अगर आपका क्रेडिट स्‍कोर या सिबिल स्कोर अच्‍छा है तो आपको पर्सनल लोन में इसका फायदा मिल सकता है। अच्छा सिबिल स्कोर आपकी प्रोसेसिंग फीस और ब्‍याज दर कम करा सकता है। आमतौर पर बैंक बेहतर क्रेडिट स्‍कोर वाले कस्‍टमर की प्रोसेसिंग फीस माफ करने के अलावा ब्‍याज भी कम कर देते हैं। 750-900 के बीच सिबिल स्कोर अच्छा माना जाता है। वहीं 750 से कम होने पर आपको ज्यादा ब्याज दर पर लोन मिलेगा। इसके अलावा आपको लोन मिलने में परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है। इसीलिए अपने क्रेडिट स्कोर का ध्यान रखें।

प्रोसेसिंग फीस और अन्य चार्जेस भी देखें
अक्सर बैंक पर्सनल लोन में कुछ हिडेन चार्ज और प्रोसेसिंग फीस को शामिल कर लेते हैं, जिन्हें लोन देते वक्त बैंककर्मी या एजेंट ग्राहक को बताने से बचते हैं। इसके अलावा लोन को समय से पहले चुकाने (प्री-पेमेंट क्लोजर) पर वसूले जाने वाले शुल्क का भी पता करें। इससे आपको बाद में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

रीपेमेंट कैपेसिटी का रखें ध्यान
लोन की अवधि चुनने से पहले ठीक से विचार करना चाहिए। लोन की किस्तें अपनी क्षमता को देखकर ही तय करना चाहिए। क्योंकि किस्त न दे पाने पर आपको पेनल्टी तो देना ही होगा इसके अलावा ये आपके सिबिल स्कोर पर भी बुरा असर डालेगा। लोन को जितना जल्दी हो सके निपटाने की कोशिश करनी चाहिए।

संबंधित बैंक से लें लोन
अगर आप लोन लेने का सोच रहे हैं तो उसी बैंक से लोन लें जहां आपका अकाउंट, फिक्स्ड डिपॉजिट या क्रेडिट कार्ड सेवा आप वहां से ले रहे हों। क्योंकि बैंक अपने रेगुलर कस्टमर्स को आसानी से और उचित ब्याज दर पर लोन उपलब्ध कराते हैं।

पर्सनल लोन पर नहीं देना होता टैक्स
पर्सनल लोन पर टैक्स नहीं लगता है, क्योंकि लोन की रकम को इनकम नहीं माना जाता, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि आपने लोन किसी लीगल सोर्स जैसे बैंक या NBFC से लिया हो। हालांकि लोन पर टैक्स छूट का लाभ लेने के लिए आपको कई डॉक्युमेंट्स शो करने होंगे। इनमें खर्च का वाउचर, बैंक का सर्टिफिकेट, सैंक्शन लेटर और ऑडिटर का लेटर आदि डॉक्युमेंट्स शामिल हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

इसे भी पढ़ें

- Advertisement -

Latest Articles