Saturday, November 28, 2020

केंद्रीय मंत्री का बयान: कोरोनाकाल में ऐपल से जुड़ी 9 यूनिट चीन छोड़कर भारत में शिफ्ट हुईं: रवि शंकर प्रसाद

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Business
  • 9 Units Attached To Apple Shifted To India In Coronaco: Ravi Shankar Prasad

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली14 मिनट पहले

हाल ही में केंद्रीय कैबिनेट ने PLI स्कीम को 10 और सेक्टर्स में लागू करने को मंजूरी दी थी।

  • चीन छोड़कर भारत शिफ्ट होने वालों में उपकरण बनाने वाली यूनिट भी शामिल
  • कोरोना के दौरान भारतीयों ने तकनीक को सहजता से स्वीकारा: पीएम मोदी

केंद्रीय IT और कम्युनिकेशन मंत्री रवि शंकर प्रसाद का कहना है कि ऐपल के लिए भारत अब बड़ी डेस्टिनेशन बनता जा रहा है। केंद्रीय मंत्री के मुताबिक, कोरोनाकाल में ऐपल के लिए काम करने वाली 9 यूनिट चीन को छोड़कर भारत में शिफ्ट हो चुकी हैं। इसमें ऑपरेटिंग यूनिट और कंपोनेंट मेकर जैसी यूनिट शामिल हैं।

वैकल्पिक स्थान तलाश रहा मैन्युफैक्चरिंग वर्ल्ड

बेंगलुरु टेक समिट के 23वें वर्चुअल एडिशन में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैन्युफैक्चरिंग वर्ल्ड अपने लिए वैकल्पिक स्थान तलाश रहा है। उन्होंने कहा कि मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में भारी सफलता के बाद हम प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) की बड़ी योजना लेकर आए हैं। इससे पहले प्रसाद ने कहा था कि सैमसंग, फॉक्सकॉन, राइजिंग स्टार, विस्ट्रॉन, पेगाट्रॉन जैसी कंपनियों ने PLI स्कीम के तहत आवेदन किया है।

महामारी के दौरान तकनीक ने दिखाई अपनी ताकत

टेक समिट के उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान तकनीक ने अपनी ताकत दिखाई है और भारतीयों ने कितनी सहजता से इसे एडॉप्ट किया है। लॉकडाउन और यात्रा प्रतिबंधों के दौरान हमने लोगों को वर्कप्लेस से दूर रखा है। लेकिन टेक्नोलॉजी ने घर से काम को आसान बनाए रखा। पीएम मोदी ने कहा कि चुनौतियों में लोग अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं। शायद यह बात भारत के टेक प्रोफेशनल्स पर सटीक बैठती है।

10 सेक्टरों में लागू होगी PLI स्कीम

11 नवंबर को केंद्रीय कैबिनेट ने PLI स्कीम को 10 और सेक्टर्स में लागू करने को मंजूरी दी थी। इसमें ऑटोमोबाइल्स और ऑटो पार्ट्स, फार्मा, टेक्सटाइल और फूड सेक्टर भी शामिल हैं। पहले यह स्कीम मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग के लिए लाई गई थी। इस स्कीम के तहत सरकार ने पांच साल में 1 लाख 45 हजार 980 करोड़ रुपए आवंटित करने का लक्ष्य तय किया है।



Source link

इसे भी पढ़ें

Mossad: ईरानी ‘परमाणु बम के जनक’ की दिनदहाडे़ हत्‍या, इजरायल से युद्ध के मंडराए बादल

हाइलाइट्स:ईरान के 'परमाणु बम कार्यक्रम के जनक' कहे जाने वाले शीर्ष वैज्ञानिक की हत्‍या मोहसिन फखरीजादेह की शुक्रवार को राजधानी तेहरान में दिनदहाड़े...
- Advertisement -

Latest Articles

Mossad: ईरानी ‘परमाणु बम के जनक’ की दिनदहाडे़ हत्‍या, इजरायल से युद्ध के मंडराए बादल

हाइलाइट्स:ईरान के 'परमाणु बम कार्यक्रम के जनक' कहे जाने वाले शीर्ष वैज्ञानिक की हत्‍या मोहसिन फखरीजादेह की शुक्रवार को राजधानी तेहरान में दिनदहाड़े...

Baba Jan: गिलगित-बाल्टिस्तान की जनता के आगे इमरान सरकार ने टेके घुटने, बाबा जान 9 साल बाद रिहा

मुजफ्फराबाद पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (POK) के गिलगित-बाल्टिस्‍तान के नेता बाबा जान को र‍िहा करने के लिए जोरदार विरोध प्रदर्शनों के आगे घुटने टेकते...