Monday, June 21, 2021

कोविड मरीजों की घर-घर देखभाल: नीति आयोग और पिरामल फाउंडेशन का 112 जिलों में अभियान, सुरक्षित हम सुरक्षित तुम से होगी मदद

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Business
  • COVID 19 Patient At Home; NITI Aayog And Piramal Foundation Launch Surakshit Hum Surakshit Tum Abhiyaan

मुंबई6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • देश भर के 112 जिलों में अभियान चलाया जाएगा यह अभियान
  • 20 लाख नागरिकों को कोविड होम केयर के तहत मदद दी जाएगी

सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग और देश का प्रमुख कॉर्पोरेट घराना पिरामल ग्रुप के पिरामल फाउंडेशन ने कोरोना के मरीजों की घर-घर देखभाल करने की योजना शुरू की है। इसके तहत देश भर के 112 जिलों में अभियान चलाया जाएगा। इसे सुरक्षित हम सुरक्षित तुम का नाम दिया गया है। यह जिले देश के 26 राज्यों में हैं। इसमें बड़े राज्यों में ज्यादा जिले हैं।

20 लाख नागरिकों को दी जाएगी मदद

इस अभियान के तहत 20 लाख नागरिकों को कोविड होम केयर के तहत मदद दी जाएगी। इसके तहत कोविड-19 के ऐसे मरीजों की घर पर देखभाल करने में जिला प्रशासन की मदद की जाएगी, जो बिना लक्षण वाले या हलके लक्षण वाले हैं। यह अभियान एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट्स कोलैबोरेटिव नामक विशेष पहल के तहत शुरू किया गया है। इसमें स्थानीय नेता, नागरिक समाज और स्वयंसेवक जिला प्रशासन के साथ मिलकर एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम के प्रमुख फोकस क्षेत्रों में जिले में उभरती समस्याओं का समाधान करेंगे।

जिला मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में होगा अभियान

अभियान का नेतृत्व जिला मजिस्ट्रेट द्वारा 1,000 से अधिक स्थानीय गैर सरकारी संगठनों के साथ साझेदारी में किया जाएगा, जो इनबाउंड/आउटबाउंड कॉल के माध्यम से रोगियों से जुड़ने के लिए 1 लाख से अधिक स्वयंसेवकों को नॉमिनेट और प्रशिक्षित करेंगे। गैर सरकारी संगठनों और स्वयंसेवकों को प्रशिक्षण देने में पिरामल फाउंडेशन जिला प्रशासन की मदद करेगा।

महत्वपूर्ण पहल है – नीति आयोग

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि अभियान ‘सुरक्षित हम सुरक्षित तुम’ एक महत्वपूर्ण पहल है जो तात्कालिक जरूरतों को पूरा करने का प्रयास करती है। इस पहल के तहत कोविड के स्थायी प्रभाव को ध्यान में रखते हुए जिलों में भारत के सबसे गरीब समुदायों को लंबे समय तक मदद प्रदान की जाएगी। संभावना है कि इस अभियान के तहत कोविड से संबंधित 70 पर्सेंट मामलों का घरों में ही इलाज करने, स्वास्थ्य प्रणाली पर दबाव कम करने और लोगों में भय के प्रसार को रोकने के लिए जिला प्रशासन की तैयारियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जाएगी।

इन जिलों को आपूर्ति किए गए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के सही उपयोग के लिए भी इस अभियान के दौरान नागरिकों को जागरूक किया जाएगा।

एनजीओ को भी शामिल किया जाएगा

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के आधार पर एनजीओ प्रभावित लोगों को घरेलू देखभाल सहायता प्रदान करने के लिए स्थानीय स्वयंसेवकों को जुटाएगा। स्वयंसेवकों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कार्यवाहकों को शिक्षित करके प्रत्येक 20 प्रभावित परिवारों का समर्थन करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रशासन को रोगियों के बारे में समय पर अपडेट देने की दिशा में भी उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा।

सभी प्रभावित व्यक्ति तक पहुंचने का लक्ष्य

पिरामल ग्रुप के चेयरमैन अजय पिरामल ने कहा कि हमारा लक्ष्य 112 जिलों के प्रत्येक प्रभावित व्यक्ति तक पहुंचना है। हम सभी हितधारकों- सरकार, गैर सरकारी संगठनों, समुदायों और अन्य लोगों से एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट्स कोलैबोरेटिव की इस पहल में आगे आकर हाथ मिलाने और अपनी सेवाएं देने का आह्वान करते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

इसे भी पढ़ें

चीन की नाक के नीचे पहुंचा नौसेना का ऐरावत, साउथ चाइना सी में योग से दिया कड़ा संदेश

कैमरान्‍ह बे (वियतनाम)साउथ चाइना सी से लेकर अरब सागर तक फुफकार रहे चीनी ड्रैगन को भारतीय नौसेना ने अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस पर एक...

बुरी खबर! Battlegrounds Mobile India हो सकता है बैन, बताया जा रहा है सुरक्षा का खतरा

नई दिल्ली। गेमिंग लवर्स के लिए खुशखबरी है, क्योंकि अब Battlegrounds Mobile India भारत में जल्द ही लॉन्च होने वाला है। जो यूजर्स...
- Advertisement -

Latest Articles

चीन की नाक के नीचे पहुंचा नौसेना का ऐरावत, साउथ चाइना सी में योग से दिया कड़ा संदेश

कैमरान्‍ह बे (वियतनाम)साउथ चाइना सी से लेकर अरब सागर तक फुफकार रहे चीनी ड्रैगन को भारतीय नौसेना ने अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस पर एक...

बुरी खबर! Battlegrounds Mobile India हो सकता है बैन, बताया जा रहा है सुरक्षा का खतरा

नई दिल्ली। गेमिंग लवर्स के लिए खुशखबरी है, क्योंकि अब Battlegrounds Mobile India भारत में जल्द ही लॉन्च होने वाला है। जो यूजर्स...