Thursday, February 25, 2021

डील को ना: पिंट्रेस्ट ने माइक्रोसॉफ्ट के 3.7 लाख करोड़ के ऑफर को ठुकराया, महामारी में कंपनी की वैल्यू 600% तक बढ़ी

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Tech auto
  • Microsoft Pinterest Deal 2021 Update | Pinterest Reject Microsoft Rs 3.7 Lack Crore Offers, Here’s All You Need To Know

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

न्यूयॉर्ककुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक
  • इमेज-शेयरिंग फर्म ने संकेत दिया कि वह स्वतंत्र कंपनी बने रहना चाहती है

माइक्रोसॉफ्ट ने हाल ही में इमेज-शेयरिंग और सोशल मीडिया सर्विस कंपनी पिंट्रेस्ट को खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन बात नहीं बन पाई। यदि डील हो जाती तो यह माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से किया गया अब तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण होता, क्योंकि ऑफर 5,100 करोड़ डॉलर (करीब 3.70 लाख करोड़ रुपए) का था।

असल में माइक्रोसॉफ्ट अपने क्लाउड कम्प्यूटिंग प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन कम्युनिकेशन का एक पोर्टफोलियो बनाने के लिए पिंट्रेस्ट को खरीदना करना चाहती है। माइक्रोसॉफ्ट ने इससे पहले टिकटॉक को भी खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन डील नहीं हो पाई थी।

स्वतंत्र कंपनी रहना चाहती है पिंट्रेस्ट
बहरहाल, एक मीडिया रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया है कि दोनों कंपनियों के बीच डील को लेकर बातचीत बंद हो गई है। पिंट्रेस्ट ने संकेत दिया है कि वह स्वतंत्र कंपनी बने रहना चाहती है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला यह डील करने का अपना प्रयास जारी रखेंगे या नहीं।

पिंट्रेस्ट का अमेरिका में रेवेन्यू 67% बढ़ा
पिंट्रेस्ट ने पिछले सप्ताह 2020 के आखिरी क्वार्टर की फाइनेंशियल रिपोर्ट पेश की थी। उसके मुताबिक, कंपनी ने 706 मिलियन डॉलर (5.4 हजार करोड़ रुपए) का रेवेन्यू जनरेट किया है। कंपनी का अमेरिका में रेवेन्यू सालाना आधार पर 67% बढ़कर 582 मिलियन डॉलर (करीब 4.2 हजार करोड़ रुपए) हो गया। वहीं, इंटरनेशनल रेवेन्यू 145% बढ़कर 123 मिलियन डॉलर (करीब 895 करोड़ रुपए) रहा। पिंट्रेस्ट के यूजर्स की संख्या 46% बढ़कर 361 मिलियन (36 करोड़) से ज्यादा हो चुकी है। कोविड के दौरान पिंट्रेस्ट की मार्केट वैल्यू 600% तक बढ़ गई है।

माइक्रोसॉफ्ट ने पहले भी कई कंपनियां खरीदीं
माइक्रोसॉफ्ट इससे पहले लिंक्डइन (Linkedin) को 26 अरब डॉलर (करीब 1.8 लाख करोड़ रुपए) और GitHub को 7.5 अरब डॉलर (करीब 54 हजार करोड़ रुपए) में खरीद कर चुकी है। माइक्रोसॉफ्ट ने पिछले साल प्राइवेट गेमिंग कंपनी जेनीमैक्स (ZeniMax) को 7.5 अरब डॉलर (करीब 54 हजार करोड़ रुपए) दिए थे। उसने टिकटॉक को खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन ये डील नहीं हो पाई थी।



Source link

इसे भी पढ़ें

Facebook, Google को लगा बड़ा झटका, मीडिया कंपनियों को चुकाने होंगे पैसे

हाइलाइट्स:ऑस्ट्रेलिया ऐसा कानून लाने वाला पहला देश बनाफेसबुक ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में न्यूज़ कॉन्टेन्ट बैन कर दिया थाकंपनियों को सरकार द्वारा...
- Advertisement -

Latest Articles

Facebook, Google को लगा बड़ा झटका, मीडिया कंपनियों को चुकाने होंगे पैसे

हाइलाइट्स:ऑस्ट्रेलिया ऐसा कानून लाने वाला पहला देश बनाफेसबुक ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में न्यूज़ कॉन्टेन्ट बैन कर दिया थाकंपनियों को सरकार द्वारा...

Maruti Swift नई Vs पुरानी: किसमें कितना दम

नई दिल्लीMaruti Suzuki ने बीत बुधवार को अपनी अपडेटेड स्विफ्ट हैचबैक लॉन्च की। कार की शुरुआती कीमत 5.73 लाख रुपये है। नए मॉडल...

India vs England- सुनील गावस्कर ने कहा, ‘ऐसे आउट होने से लगेगी शुभमन के आत्मविश्वास को ठेस’

अहमदाबादशुभमन गिल (Shubman Gill) ने ऑस्ट्रेलिया में अपने टेस्ट करियर का आगाज तो अच्छा किया लेकिन उसके बाद से वह ज्यादा रन नहीं...