Thursday, April 15, 2021

पाकिस्तान के पीएम का फैसला: मौजूदा हालात में भारत से कारोबार मुमकिन नहीं, जम्मू-कश्मीर के खास दर्जे की बहाली का पेंच फंसाया

- Advertisement -


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • वाणिज्य मंत्रालय को पता लगाने के लिए कहा है कि चीनी और कपड़ा उद्योग के लिए कहां से सस्ता माल मंगाया जा सकता है
  • कोविड के कहर के बीच मई 2020 में पाकिस्तान ने भारत से जरूरी दवाओं और कच्चे माल के आयात पर लगा बैन हटाया था

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत से चीनी और कपास के आयात को इजाजत दिए जाने पर चौतरफा बवाल मचने के बाद यह फैसला किया है कि उनका मुल्क भारत के साथ कोई व्यापार नहीं करेगा। शनिवार को मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, खान ने यह फैसला दोनों उत्पादों को भारत से मंगाने को लेकर कैबिनेट के अहम सदस्यों के साथ सलाह-मशविरे के बाद किया है।

क्या कदम उठा रही है पाकिस्तान सरकार?

पाकिस्तान के जाने-माने मीडिया हाउस डॉन ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि पीएम ने कैबिनेट से सलाह-मशविरे के बाद कपड़ा और चीनी उद्योग की मदद के लिए तुरंत कदम उठाने का निर्देश दिया है। डॉन के मुताबिक खान ने शुक्रवार को वाणिज्य मंत्रालय और आर्थिक सलाहकारों की टीम को यह पता लगाने के लिए कहा है कि उन उद्योगों के लिए कहां से सस्ता माल मंगाया जा सकता है।

भारत से आयात के फैसले का आधार क्या था?

इकोनॉमिक कोऑर्डिनेशन कमेटी (ECC) के सामने कई प्रपोजल रखे गए हैं। कमेटी अपने पास आए सुझावों पर आर्थिक और वाणिज्यिक नजरिए से विचार करती है। जब ECC सभी प्रपोजल पर विचार कर लेती है तब उसके फैसले को अंतिम मंजूरी के लिए कैबिनेट के पास भेजा जाता है। मीडिया हाउस के मुताबिक, हालिया मामले में भारत से कपास, सूती धागे और चीनी मंगाने का प्रस्ताव घरेलू जरूरतों को ध्यान में रखते हुए कमेटी के पास भेजा गया था।

इमरान खान ने फैसला लेने से पहले क्या किया?

सूत्रों ने बताया कि भारत से चीनी, कपास और सूती धागे मंगाने की इजाजत देने के फैसले को लेकर खान ने शुक्रवार को कैबिनेट के अहम सदस्यों के साथ सलाह-मशविरा किया। उन्होंने तय किया है कि पाकिस्तान मौजूदा हालात में भारत से किसी तरह का व्यापार नहीं कर सकता। ECC ने कैबिनेट के पास मंजूरी के लिए तीनों उत्पादों के आयात की जो सिफारिश भेजी थी, उसको कारोबारी नजरिए से तैयार किया गया था।

भारत के साथ किन रिश्तों को तोड़ चुका है पाकिस्तान?

पीएम की अगुआई वाली कैबिनेट ने भारत से कॉटन मंगाने का कमेटी का प्रस्ताव गुरुवार को खारिज कर दिया था। फॉरेन मिनिस्टर शाह महमूद कुरेशी ने कहा था कि भारत जब तक जम्मू और कश्मीर को मिला खास दर्जा वापस लेने का फैसला वापस नहीं ले लेता तब तक उसके साथ व्यापारिक रिश्ते सामान्य नहीं हो सकते। 5 अगस्त 2019 को जेएंडके का खास दर्जा वापस लिए जाने पर पाकिस्तान ने भारत के साथ हवाई और रोड सर्विस रोक दी और व्यापार और रेल सेवा बंद कर दी थी।

पिछले साल भारत से किन चीजों के आयात से बैन हटाया था?

हाल में वित्त मंत्री बने हम्माद अजहर की अगुआई में ECC ने उसके एक दिन पहले ही भारत से आयात पर लगा दो साल का बैन उठाते हुए पड़ोसी मुल्क से कपास और चीनी मंगाने का सुझाव दिया था। ECC के फैसले से भारत और पाकिस्तान के द्विपक्षीय व्यापार दोबारा शुरू होने की उम्मीद बंधी थी। कोविड के बीच मई 2020 में पाकिस्तान ने जरूरी दवाओं और कच्चे माल के आयात पर लगा बैन हटा लिया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

इसे भी पढ़ें

पप्पू ने बनवाया गर्ल्स हॉस्टल का पास

मास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स हॉस्टल की तरफ गया...नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Apr 15, 2021, 06:00AM ISTमास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स...
- Advertisement -

Latest Articles

पप्पू ने बनवाया गर्ल्स हॉस्टल का पास

मास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स हॉस्टल की तरफ गया...नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Apr 15, 2021, 06:00AM ISTमास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स...