Tuesday, December 1, 2020

पीएम मोदी ने कहा: अगले 5 सालों में भारत की तेल रिफाइनिंग क्षमता को दोगुना करने पर किया जा रहा है काम

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Business
  • Work On To Double India’s Oil Refining Capacity In Next Five Years: PM Modi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को गुजरात के गांधीनगर के पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय के 8 वें दीक्षांत समारोह में अपनी सरकार की ऊर्जा योजनाओं के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत अगले पांच सालों में तेल रिफाइनिंग क्षमता को दोगुना करने पर लगातार काम कर रहा है।

साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि इस दशक में प्राकृतिक गैस के इस्तेमाल को चार गुना बढ़ाने के प्रयास जारी है।पीएम मोदी ने कहा कि आज हमारा देश कार्बन उत्सर्जन को 30 से 35 प्रतिशत कम करने के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, जब मैंने इसके बारे में दुनिया को बताया तो उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया और इस बात को लेकर उनमें कौतूहल था कि क्या भारत इस लक्ष्य को हासिल कर सकेगा।

उन्होंने कहा कि एनर्जी सेक्टर में स्टार्टअप को मजबूत करने के लिए लगातार काम हो रहा है। और इसके लिए विशेष कोष आवंटित किया गया है।

उन्होंने कहा कि अगर आपके पास कोई विचार, उत्पाद और सिद्धांत है और उसपर आप आगे बढ़ना चाहते हैं तो यह कोष (राशि) आपके लिए एक अच्छा मौका है और सरकार की तरफ से उपहार है। पीएम ने कहा कि गैस और तेल क्षेत्र में ही इस दशक करोड़ों रुपये का निवेश होना है, इसलिए आपके लिए इस क्षेत्र में बहुत ही संभावनाएं हैं।



Source link

इसे भी पढ़ें

Micromax IN Note 1 को आज खरीदने का मौका, फ्लिपकार्ट पर है सेल

नई दिल्लीMicromax In Note 1 स्मार्टफोन को आज देश में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। पिछले महीने लॉन्च हुई माइक्रोमैक्स की नई...
- Advertisement -

Latest Articles

Micromax IN Note 1 को आज खरीदने का मौका, फ्लिपकार्ट पर है सेल

नई दिल्लीMicromax In Note 1 स्मार्टफोन को आज देश में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। पिछले महीने लॉन्च हुई माइक्रोमैक्स की नई...

चीन से पहले अमेरिका में दिसंबर में ही फैलने लगा था Coronavirus, US CDC की रिपोर्ट में दावा

वॉशिंगटनकोरोना वायरस इन्फेक्शन दिसंबर 2019 में ही अमेरिका में फैलना शुरू हो गया था। इसके कुछ हफ्ते बाद चीन में यह पाया गया...