Friday, May 14, 2021

मिड कैप का जलवा: 1 साल में 86% का रिटर्न, 5 फंड हाउस में ICICI प्रूडेंशियल मिड कैप फायदा देने में टॉप पर

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Business
  • 86% Return In 1 Year, ICICI Prudential In 5 Fund Houses Tops In Giving Mid cap Benefit

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई42 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • 10 सालों में करीबन 34 मिड कैप और स्मॉल कैप कंपनियां लॉर्ज कैप बन गई हैं
  • इस समय फार्मा और हेल्थकेयर सेक्टर में मिड कैप अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं

पिछले 1 साल में म्यूचुअल फंड की मिड कैप स्कीम्स ने निवेशकों को बेहतर फायदा दिया है। देश के 5 बड़े म्यूचुअल फंड हाउस के मिड कैप ने 1 साल में 70% से ज्यादा का फायदा दिया है। इसमें ICICI प्रूडेंशियल ने सबसे अधिक 86% का रिटर्न दिया है।

मिड कैप लंबे समय में बेहतर प्रदर्शन करते हैं

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मिड कैप फंड के फंड मैनेजर प्रकाश गौरव कहते हैं कि जब भी बात संपत्तियों में अधिक बढ़त की आती है, मिडकैप ऐतिहासिक रूप से हमेशा लंबे समय में बेहतर प्रदर्शन करते हैं। पिछले 10 सालों में करीबन 34 मिड कैप और स्मॉल कैप कंपनियां लॉर्ज कैप बन गई हैं।

इन फंड हाउसों का प्रदर्शन बेहतर

टॉप मिड कैप फंडों के रिटर्न में अर्थलाभ के आंकड़ों के मुताबिक, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मिड कैप ने 1 साल में 86.18% का रिटर्न दिया है। जबकि निप्पोन इंडिया ग्रोथ फंड ने 74.16, एक्सिस मिड कैप फंड ने 57.62%, कोटक एमर्जिंग इक्विटी फंड ने 79.86, डीएसपी मिड कैप फंड ने 57.40% और एचडीएफसी मिड कैप अपोर्च्युनिटीज फंड ने 75.19% का रिटर्न दिया है।

10 साल पहले लांच हुआ था फंड

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मिड कैप को करीबन 10 साल पहले लांच किया गया था। यह लगातार हर समय में बेहतर प्रदर्शन करता रहा है। इसके फंड मैनेजर को 18 सालों का फंड मैनेजमेंट का लंबा अनुभव है। मिड कैप के पोर्टफोलियो की बात करें तो यह मूल्यवान और ग्रोथ वाले शेयरों में निवेश करता है। कई सारे पैरामीटर्स को ध्यान में रख कर निवेश किया जाता है। यह स्कीम लॉर्ज कैप में वहां निवेश करती है, जहां मिड कैप नहीं होते हैं।

फाइनेंशियल और हेल्थकेयर पर फोकस

वर्तमान में यह पोर्टफोलियो फाइनेंशियल और हेल्थकेयर पर फोकस करती है। खासकर स्पेशियालिटी केमिकल्स, व्हाइट गुड्स, मोबाइल, रिसर्च और फार्मा जैसे सेक्टर्स इसमें हैं। इसमें इसलिए भी फायदा मिल सकता है क्योंकि चीन को इन सेक्टर्स में प्रतिबंध किया जा रहा है। साथ ही कोरोना की बीमारी से फार्मा सेक्टर को अच्छा फायदा हो रहा है। इससे हेल्थकेयर सेवाओं की मांग बढ़ गई है।

हाल के समय में बेहतर प्रदर्शन नहीं था

विश्लेषकों के मुताबिक, पिछले कुछ सालों में लॉर्ज कैप की तुलना में मिड कैप ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था, पर अब आने वाले समय में मिड कैप एक अच्छा विकल्प दिख रहा है। सरकार ने जो ढांचागत सुधार किया है, उसका उन कंपनियों को ज्यादा फायदा मिलेगा, जो मिड कैप में काम करती हैं। साथ ही कम ब्याज दरें भी मध्यम आकार वाली कंपनियों के लिए अच्छा काम करती है।

प्रकाश गौरव कहते हैं कि कुछ कंपनियां और इंडस्ट्री केवल मिड कैप सेगमेंट में ही काम करती हैं। उदाहरण के लिए एयर कंडीशनर्स, डायग्नोस्टिक या फिर होटल जैसी कंपनियां ज्यादातर मिड साइज कंपनियां होती हैं। इसमें से ज्यादातर कंपनियों की बाजार हिस्सेदारी में बढ़त की संभावना बनी रहती है।

खबरें और भी हैं…



Source link

इसे भी पढ़ें

नोरा फतेही का इजरायल पर फूटा गुस्‍सा, सोशल मीडिया पर फिलिस्तीनियों के लिए छलका दर्द

बॉलिवुड ऐक्‍ट्रेस और मशहूर डांसर नोरा फतेही (Nora Fatehi) सोशल मीडिया पर काफी ऐक्‍टिव रहती हैं। अब उन्‍होंने फिलिस्तीन पर हमलों के खिलाफ...
- Advertisement -

Latest Articles

नोरा फतेही का इजरायल पर फूटा गुस्‍सा, सोशल मीडिया पर फिलिस्तीनियों के लिए छलका दर्द

बॉलिवुड ऐक्‍ट्रेस और मशहूर डांसर नोरा फतेही (Nora Fatehi) सोशल मीडिया पर काफी ऐक्‍टिव रहती हैं। अब उन्‍होंने फिलिस्तीन पर हमलों के खिलाफ...

Kabul mosque bombing: जुमे की नमाज के समय काबुल की मस्जिद में धमाका, इमाम सहित 12 लोगों की मौत

काबुलउत्तरी काबुल में जुमे की नमाज के समय एक मस्जिद में विस्फोट की खबर है। इसमें 12 नमाजियों की मौत हो गई। काबुल...