Monday, November 30, 2020

राशि जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी: पंजाब एंड सिंध बैंक जुटाएगा 5,500 करोड़ रुपए तक की राशि

- Advertisement -


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सरकारी क्षेत्र के पंजाब एंड सिंध बैंक ने शनिवार को कहा कि उसके निदेशक मंडल ने तरजीही आधार पर शेयर जारी कर 5,500 करोड़ रुपए तक की राशि जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

बैंक ने कहा कि सरकार 2020-21 के दौरान शेयरों के तरजीही आवंटन के बदले 5,500 करोड़ रुपए की पूंजी डालने वाली है। निदेशक मंडल की यह मंजूरी इसी उद्देश्य से है।

बैंक ने कहा कि इस राशि से उसे नियामकीय आवश्यकताओं तथा वृद्धि के लिए जरूरी पूंजी प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

बैंक में सरकार की हिस्सेदारी 30 सितंबर, 2020 की स्थिति के अनुसार 83.06 प्रतिशत थी।



Source link

इसे भी पढ़ें

Team India Captaincy: सिडनी में दोहरी हार के बाद टीम इंडिया में फिर उठे कप्तानी को लेकर सवाल

नितिन नाइक, मुंबईसिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार दो मैच हारने के बाद एक बार फिर अलग-अलग फॉर्मेट में अलग...

दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में लाहौर शीर्ष पर, दूसरे स्थान पर है अपनी दिल्ली

इस्लामाबाददुनिया के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों की सूची में पाकिस्तान के लाहौर को पहला स्थान मिला है। वहीं, इस लिस्ट में नई दिल्ली...
- Advertisement -

Latest Articles

Team India Captaincy: सिडनी में दोहरी हार के बाद टीम इंडिया में फिर उठे कप्तानी को लेकर सवाल

नितिन नाइक, मुंबईसिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार दो मैच हारने के बाद एक बार फिर अलग-अलग फॉर्मेट में अलग...

दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में लाहौर शीर्ष पर, दूसरे स्थान पर है अपनी दिल्ली

इस्लामाबाददुनिया के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों की सूची में पाकिस्तान के लाहौर को पहला स्थान मिला है। वहीं, इस लिस्ट में नई दिल्ली...

नितिन गडकरी बोले- भारत को जल्द से जल्द मिलेगी कोविड-19 वैक्सीन, कोरोना को हराएगा देश

नई दिल्लीकेंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी को भरोसा है कि भारत को कोविड-19 का टीका 'जितना जल्दी संभव...

किसान आंदोलन पर बहस के बीच वायरल हुआ Swiggy का मजेदार ट्वीट

किसान अपने हक के लिए सड़कों पर हैं। जिन हाथों ने मिट्टी तोड़कर उसमें सोना उगाया, जिन पैरों ने पूस की रात में...