Sunday, January 17, 2021

सरकार का अनुमान: 7.7% सिकुड़ सकती है अर्थव्यवस्था, कृषि छोड़ सभी आर्थिक क्षेत्रों की वृद्धि दर नकारात्मक

- Advertisement -


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • वित्त वर्ष 2019-20 में 4.2% रही थी देश की आर्थिक वृद्धि दर
  • जून तिमाही में 23.9% घटी GDP, सितंबर तिमाही में 7.5% डीग्रोथ

देश की अर्थव्यवस्था का आकार मौजूदा वित्त वर्ष में 7.7% सिकुड़ सकता है। इसकी सबसे बड़ी वजह कोविड-19 के चलते आर्थिक गतिविधियों में आई कमी रहेगी। पिछले वित्त वर्ष देश की आर्थिक वृद्धि दर 4.2% रही थी। पहली तिमाही में इकोनॉमी 23.9 पर्सेंट घट गई थी। दूसरी तिमाही में हालत सुधरी और डीग्रोथ 7.5 पर्सेंट रह गई।

​​​​​कृषि क्षेत्र का 3.4% का पॉजिटिव कंट्रिब्यूशन

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) की तरफ से जारी पहले अग्रिम अनुमान के मुताबिक सभी आर्थिक क्षेत्रों की वृद्धि दर नकारात्मक रही है। सिर्फ कृषि ऐसा क्षेत्र रहा है जिसने मौजूदा वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि को संभालने में सकारात्मक योगदान किया है। कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर 3.4% रह सकती है लेकिन पिछले वित्त वर्ष में इसकी ग्रोथ 4 पर्सेंट रही थी।

नॉमिनल GDP में 4.2% की कमी आएगी

अनुमान के मुताबिक ग्रॉस ऐडेड वैल्यू (GVA) में 7.2% की गिरावट आ सकती है। GVA बताती है कि किसी सेक्टर की इकनॉमिक एक्टिविटी से GDP में कितना योगदान हुआ है। इसका पता करने के लिए प्रॉडक्शन से इनपुट कॉस्ट को निकाल लिया जाता है। सरकार ने नॉमिनल GDP में 4.2% की कमी आने का अनुमान दिया है। वह सालाना बजट नॉमिनल GDP के हिसाब से बनाती है।

छह-सात महीने के आंशिक आंकड़े बने आधार

इकोनॉमी को लेकर सरकार का एडवांस एस्टीमेट रिजर्व बैंक के दिसंबर वाले पॉलिसी रिव्यू के प्रोजेक्शन के मुताबिक रहा है। उसने GDP का पहला एडवांस्ड एस्टीमेट शुरुआती छह-सात महीने के आंशिक आंकड़ों पर दिया है। अर्थव्यवस्था की असल तस्वीर आने वाले समय में इसमें होने वाले संशोधनों में दिखेगी।​​​​​​​

प्राइवेट कंजम्पशन में 9% से ज्यादा कमी

वित्त वर्ष 2021 में प्राइवेट कंजम्पशन में 9% से ज्यादा कमी रह सकती है। देश की अर्थव्यवस्था में इसका सबसे ज्यादा योगदान होता है। कंस्ट्रक्शन सेक्टर का साइज 12.6% घट सकता है। ट्रेड, होटल, ट्रांसपोर्ट, कम्युनिकेशन के साइज में 21% की कमी आ सकती है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का साइज 9.4% घट सकता है।

मई में आएगा ग्रोथ का प्रोविजनल एस्टीमेट

यूनियन बजट 2021-22 के पहले आने से इस आंकड़े की अहमियत बढ़ गई है। वित्त मंत्री को नए वित्त वर्ष के लिए बजट बनाने में इससे काफी मदद मिलेगी। यह कोविड-19 से मची तबाही का अंदाजा देने वाला पहला सरकारी आंकड़ा है। दूसरा एडवांस एस्टीमेट फरवरी के अंत में आएगा। सरकार GDP ग्रोथ का प्रोविजनल एस्टीमेट मई में जारी करेगी।



Source link

इसे भी पढ़ें

डोनाल्‍ड ट्रंप समर्थकों से डर, ट्विटर के कर्मचारियों ने लॉक किया अपना प्रोफाइल

सैन फ्रांसिस्कोअमेर‍िका के निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों से विरोध का सामना किए जाने के डर से कुछ ट्विटर कर्मियों ने...
- Advertisement -

Latest Articles

डोनाल्‍ड ट्रंप समर्थकों से डर, ट्विटर के कर्मचारियों ने लॉक किया अपना प्रोफाइल

सैन फ्रांसिस्कोअमेर‍िका के निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों से विरोध का सामना किए जाने के डर से कुछ ट्विटर कर्मियों ने...

20 हजार रुपये में दमदार स्मार्टफोन्स, धांसू हैं फीचर्स

नई दिल्लीस्मार्टफोन बाजार में लगातार नए फोन्स लॉन्च हो रहे हैं। शाओमी, पोको, इनफनिक्स, सैमसंग और रियलमी जैसी कंपनियां बड़ी बैटरी, क्वाड कैमरा...