Saturday, December 5, 2020

सुधार के संकेत: भारत के ट्रैवल सेक्टर में रिकवरी की उम्मीद; अगले दो महीनों के अंदर 50% से ज्यादा लोगों ने बनाया घूमने का प्लान

- Advertisement -


  • Hindi News
  • Business
  • Indian Tourism And Hospitality Industry Recovery Update; Here’s FICCI Thrillophilia Latest Survey

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • जीडीपी में ट्रैवल और टूरिज्म सेक्टर की हिस्सेदारी 2028 में बढ़कर 32.05 लाख करोड़ रुपए तक होने का अनुमान है
  • सर्वे में शामिल 65% लोगों ने बाहर ट्रैवल करने के लिए फ्लाइट या खुद की गाड़ी को ज्यादा तवज्जो दिया

कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण प्रभावित हुए ट्रैवल सेक्टर से जुड़ी एक अच्छी खबर आई है। फिक्की और थ्रिलोफिलिया के ताजा सर्वे के मुताबिक, कुल यात्रा करने वाले लोगों में से 50% लोग अगले 2 महीनों में यात्रा करने की योजना बना रहे हैं। जबकि 33% लोग दो बार यात्रा करने की योजना बनाई है, जिन्होंने 2019 में भी ऐसा ही किया था।

फ्लाइट या खुद की गाड़ी है पहली पसंद

थ्रिलोफिलिया के को-फाउंडर अभिषेक धागा ने बताया कि यह सर्वे कोविड-19 के बाद भारतीय ट्रेवलर्स द्वारा सुरक्षा, रहने की जगह और यात्रा करने के लिए ट्रांसपोर्ट के चुनाव जैसे पहलुओं को जानने के लिए किया गया। सर्वे में शामिल ज्यादातर लोग भारत के प्रमुख मेट्रोपोलिटन शहरों से आते हैं। उन्होंने बताया कि सर्वे में शामिल 65% लोगों ने बाहर ट्रैवल करने के लिए फ्लाइट या खुद की गाड़ी को ज्यादा तवज्जो दिया। लगभग 90% लोग पहाड़ों, तटों (बीचेस), छोटे गांवों या शहरों जैसे स्थानों पर जाना ज्यादा पसंद किया।

सेक्टर में बदलाव का दौर

सर्वे से एक बात तो साफ है कि जब लोग घर से बाहर ट्रैवल करने निकलेंगे तो इस सेक्टर में रिकवरी रेट भी बढ़ेगी। यह इकोनॉमी के लिए भी राहत की बात होगी। इसके अलावा आने वाले दिनों में इस सेक्टर में काफी कुछ बदलाव भी नजर आ सकते हैं। फिक्की के सेक्रेटरी जनरल दिलिप चिनॉय कहते हैं कि ट्रैवल, टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में कोरोना महामारी के चलते सर्विस में काफी बदलाव किए जा रहे हैं। इसमें ग्राहकों के व्यवहार और ट्रैवलिंग के तौर तरीकों में भी बड़े बदलाव को देखा जा सकता है। जिसके चलते भविष्य में इन क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग, सेफ्टी, हेल्थ और हाइजीन के नए नियमों को भी लाया जाएगा।

भारत की जीडीपी में ट्रैवल और टूरिज्म सेक्टर की हिस्सेदारी

इंडिया ब्रांड इक्विटी फाउंडेशन (IBEF) के डेटा के मुताबिक भारत की जीडीपी में ट्रैवल और टूरिज्म सेक्टर की हिस्सेदारी 2028 में बढ़कर 32.05 लाख करोड़ रुपए तक होने का अनुमान है, जो 2017 में 15.24 लाख करोड़ रुपए रहा था। हालांकि, भारत में इस सेक्टर से 2020 में आने वाली आय 50 बिलियन डॉलर अनुमानित है। भारत में इस सेक्टर से वित्त वर्ष 20 के दौरान 3.9 करोड़ नौकरियां निकलीं। यह भारत के कुल रोजगार में 8% की हिस्सेदारी रही थी। रिपोर्ट के मुताबिक 2028 तक भारत में इंटरनेशनल यात्रियों की संख्या 30.5 अरब तक पहुंचने का अनुमान है।



Source link

इसे भी पढ़ें

किसान आंदोलन के समर्थन में 36 ब्रिटिश सांसद, भारत पर दबाव बनाने के लिए लिखी चिट्ठी

हाइलाइट्स:भारत के किसान आंदोलन को 36 ब्रिटिश सांसदों ने दिया समर्थनब्रिटिश विदेश सचिव को लिखी चिट्ठी, भारत से बात करने की अपील कीबोले-...

Aus vs Ind: कनकशन विवाद पर बोले सहवाग, 24 घंटे बाद तक भी दिखते हैं लक्षण, भारत ने कुछ भी गलत नहीं किया

नयी दिल्लीपूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि भारतीय टीम रविंद्र जडेजा के कनकशन विकल्प को लेने में बिलकुल सही थी...
- Advertisement -

Latest Articles

किसान आंदोलन के समर्थन में 36 ब्रिटिश सांसद, भारत पर दबाव बनाने के लिए लिखी चिट्ठी

हाइलाइट्स:भारत के किसान आंदोलन को 36 ब्रिटिश सांसदों ने दिया समर्थनब्रिटिश विदेश सचिव को लिखी चिट्ठी, भारत से बात करने की अपील कीबोले-...

Aus vs Ind: कनकशन विवाद पर बोले सहवाग, 24 घंटे बाद तक भी दिखते हैं लक्षण, भारत ने कुछ भी गलत नहीं किया

नयी दिल्लीपूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि भारतीय टीम रविंद्र जडेजा के कनकशन विकल्प को लेने में बिलकुल सही थी...

एर्दोगन ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों को बताया ‘मुसीबत’, बोले- उनसे जल्द छुटकारा पा लेगा फ्रांस

अंकारामुस्लिम देशों के खलीफा बनने की कोशिश कर रहे तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैय्यप एर्दोगन फ्रांस के खिलाफ लगातार जहर उगल रहे हैं।...