Thursday, February 25, 2021

स्थायी प्रतिबंध का असर: टिकटॉक की संपत्ति को बेचने की संभावना तलाश रही बायडांस, ग्लांस से चल रही है सौदेबाजी

- Advertisement -


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लद्दाख की गलवान घाटी में सीमा विवाद के बाद केंद्र सरकार ने टिकटॉक, यूसी वेब समेत चीन के 250 से ज्यादा ऐप पर बैन लगाया था।

  • जापान का सॉफ्टबैंक ग्रुप करा रहा दोनों कंपनियों में बातचीत
  • ग्लांस की पैरेंट कंपनी इनमोबी रोपोसो का संचालन करती है

चीन की दिग्गज इंटरनेट कंपनी बायडांस अपने शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिकटॉक की भारतीय संपत्ति को बेचने की संभावना तलाश कर रही है। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, टिकटॉक की संपत्ति को लेकर बायडांस अपने प्रतियोगी प्लेटफॉर्म ग्लांस (Glance) से बातचीत कर रही है।

जापान का सॉफ्टबैंक ग्रुप करा रहा है बातचीत

रिपोर्ट में इस मामले से वाकिफ सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि बायडांस और ग्लांस के बीच जापान का सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प बातचीत करा रहा है। यह बातचीत काफी प्राइवेट तरीके से हो रही है और अभी प्रारंभिक चरण में है। ग्लांस की पैरेंट कंपनी इनमोबी (InMobi) रोपोसो (Roposo) नाम से अपना शॉर्ट वीडियो ऐप संचालित करती है। जुलाई में टिकटॉक पर बैन के बाद रोपोसो भारत में काफी पॉपुलर हो गया है।

सॉफ्टबैंक का इनमोबी-बायडांस दोनों में निवेश

सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प का इनमोबी Pte और टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बायडांस, दोनों में निवेश है। हालांकि, इस रिपोर्ट पर सॉफ्टबैंक, बायडांस और इनमोबी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। पिछले महीने बायडांस ने भारत में कार्यरत 2000 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था। भारत में दोबारा ऑपरेशन शुरू होने पर अनिश्चितता के कारण कंपनी ने यह फैसला लिया था।

सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप पर स्थायी बैन लगाया

लद्दाख की गलवान घाटी में सीमा विवाद के बाद केंद्र सरकार ने टिकटॉक, यूसी वेब समेत चीन के 250 से ज्यादा ऐप पर बैन लगाया था। पिछली महीने सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप पर स्ठायी बैन लगा दिया था। सरकार ने प्राइवेसी और कंप्लायेंस के मुद्दे को लेकर स्थायी बैन लगाया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि दोनों कंपनियों के बीच बातचीत आगे बढ़ती है तो भारत सरकार टिकटॉक के डाटा और तकनीक को देश की सीमा के भीतर रखने पर जोर देगी।



Source link

इसे भी पढ़ें

Maruti Swift नई Vs पुरानी: किसमें कितना दम

नई दिल्लीMaruti Suzuki ने बीत बुधवार को अपनी अपडेटेड स्विफ्ट हैचबैक लॉन्च की। कार की शुरुआती कीमत 5.73 लाख रुपये है। नए मॉडल...
- Advertisement -

Latest Articles

Maruti Swift नई Vs पुरानी: किसमें कितना दम

नई दिल्लीMaruti Suzuki ने बीत बुधवार को अपनी अपडेटेड स्विफ्ट हैचबैक लॉन्च की। कार की शुरुआती कीमत 5.73 लाख रुपये है। नए मॉडल...

India vs England- सुनील गावस्कर ने कहा, ‘ऐसे आउट होने से लगेगी शुभमन के आत्मविश्वास को ठेस’

अहमदाबादशुभमन गिल (Shubman Gill) ने ऑस्ट्रेलिया में अपने टेस्ट करियर का आगाज तो अच्छा किया लेकिन उसके बाद से वह ज्यादा रन नहीं...

बिजनेस ग्रोथ: 2025 तक दोगुना होकर 65-70 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा कॉरपोरेट बॉन्ड मार्केट

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपनई दिल्ली29 मिनट पहलेकॉपी लिंकरेटिंग एजेंसी क्रिसिल के अनुसार घरेलू...