Saturday, January 23, 2021

AUS vs IND: भारत के चोटिल खिलाड़ियों की बढ़ती लिस्ट, अब ब्रिसबेन टेस्ट में क्या होगा?

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • ब्रिसबेन में 15 जनवरी से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज का चौथा और अंतिम मैच
  • विराट कोहली पैटरनिटी लीव पर लौटे, लोकेश राहुल चोट के कारण सीरीज से बाहर
  • जसप्रीत बुमराह चोटिल, युवा पेसर मोहम्मद सिराज ब्रिसबेन में कर सकते हैं पेस अटैक की अगुआई
  • ओपनर मयंक अग्रवाल के हाथ में प्रैक्टिस के दौरान लगी चोट, अगला टेस्ट खेलना संदिग्ध

सिडनी
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज भारत के लिए अभी तक अच्छी भी रही और बुरी भी, जहां एक तरफ उसने वनडे सीरीज में शिकस्त झेली तो तीन मैचों की टी20 सीरीज जीती। इसके बाद टेस्ट सीरीज में उसे एक के बाद एक खिलाड़ी की चोट का सामना करना पड़ा। टेस्ट सीरीज के तीन मैचों के बाद आलम यह है कि अब ब्रिसबेन के गाबा स्टेडियम में होने वाले चौथे टेस्ट मैच के लिए उसके सामने मुश्किल खड़ी हो गई है कि आखिर प्लेइंग-XI में किसे मौका दें क्योंकि सीरीज भी दांव पर लगी है।

टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेलने के बाद विराट कोहली पैटरनिटी लीव पर स्वदेश लौट गए। इसके बाद अजिंक्य रहाणे ने टीम की कप्तानी संभाली। विराट के घर हाल में लक्ष्मी आई है और उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा ने बिटिया को जन्म दिया है।

पढ़ें, टीम इंडिया को किसकी लग गई नजर, अब मयंक अग्रवाल के हाथ में लगी चोट

राहुल भी बाहर
भारतीय ओपनर लोकेश राहुल भी चोटिल हो गए और उन्हें भी स्वदेश लौटना पड़ा। वह टेस्ट सीरीज में एक मैच भी नहीं खेल सके।

सि़डनी टेस्ट: सिराज पर फिर नस्लीय टिप्पणी, उत्पाती दर्शकों को किया मैदान से बाहर

जडेजा OUT, मयंक संदिग्ध
रविंद्र जडेजा उंगली में चोट के बावजूद तीसरा टेस्ट मैच खेले लेकिन अब वह चौथे टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं बन पाएंगे। इतना ही नहीं, ओपनर मयंक अग्रवाल का भी ब्रिसबेन टेस्ट में खेलना संदिग्ध है। प्रैक्टिस के दौरान हाथ में चोट लग गई और उन्हें हेयरलाइन फ्रैक्चर हो सकता है।

अश्विन की समस्या बढ़ी, खेलने की उम्मीद
सिडनी टेस्ट के अंतिम दिन साढ़े तीन घंटे बल्लेबाजी के बाद रविचंद्रन अश्विन की पीठ की जकड़न की समस्या भी बढ़ गई है। हालांकि ऐसी उम्मीद है कि वह 15 जनवरी से शुरू होने वाले अगले टेस्ट मैच में खेल सकते हैं।


बुमराह को लेकर BCCI नहीं लेना चाहता जोखिम
भारतीय गेंदबाजी आक्रमण के अहम सदस्य जसप्रीत बुमराह को भी खिंचाव की समस्या है और वह उनकी स्कैन रिपोर्ट के बाद भारतीय टीम प्रबंधन इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट की आगामी सीरीज को देखते हुए उनकी चोट के बढ़ने का जोखिम नहीं लेना चाहता।

सिराज कर सकते हैं आक्रमण की अगुआई
उम्मीद की जा रही है कि दो टेस्ट खेलने वाले मोहम्मद सिराज भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई करेंगे। ब्रिसबेन टेस्ट में नवदीप सैनी और टी नटराजन उनका साथ देते नजर आ सकते हैं।

पढ़ें, कोहली को पछाड़ टेस्ट रैंकिंग में स्मिथ दूसरे स्थान पर पहुंचे, पंत की लंबी छलांग

मिडिल ऑर्डर में ऑप्शन नहीं
भारतीय टीम में समस्या यह है कि चोटिल लोकेश राहुल के जाने और हनुमा विहारी की ग्रेड 2 की चोट के बाद मध्यक्रम में विकल्प नहीं बचे हैं। देखना होगा कि मुख्य खिलाड़ियों की अनुपलब्धता और लंबे निचले क्रम को देखते हुए भारत छह बल्लेबाजों और चार गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला करता है या नहीं।

India vs Australia Sydney Test Match: तीसरा टेस्ट मैच ड्रा, खुशी से झूमे सिडनी में भारतीय क्रिकेट फैंस

तीन स्टार पेसर भी बाहर
अनुभवी पेसर ईशांत शर्मा और भुवनेश्वर कुमार पहले ही सीरीज से बाहर हो चुके हैं। उनके अलावा उमेश यादव भी चोट के कारण बाहर हो गए, जिनके घर में हाल में एक बिटिया ने जन्म लिया है।

अभी सीरीज है बराबर
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज फिलहाल 1-1 से बराबरी पर है। टीम इंडिया को जहां एडिलेड में तीसरे ही दिन शिकस्त झेलनी पड़ी तो वापसी करते हुए उसने मेलबर्न में दूसरा टेस्ट जीता और तीसरा ड्रॉ रहा।

ब्रिसबेन में क्या हो सकती है भारत की प्लेइंग-XI
शुभमन गिल, रोहित शर्मा, पृथ्वी साव, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, शार्दुल ठाकुर, नवदीप सैनी, मोहम्मद सिराज और टी नटराजन



Source link

इसे भी पढ़ें

बुरी खबर! महंगी हो गई Tata की कारें, जानें कितनी बढ़ी कीमतें

नई दिल्ली।टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने अपने ग्राहकों झटका देते हुए अपनी कई कारों की कीमतों को 26,000 रुपये तक महंगा कर दिया...

Republic Day Parade: ईस्टर्न लद्दाख में चीन से मुकाबले के लिए तैनात टी-90 टैंक दौड़ेगा राजपथ पर, जानें क्यों है खास

हाइलाइट्स:भारतीय सेना का मुख्य बैटल टैंक है टी-90 , 50-60 किलोमीटर/घंटा है रफ्तारआर्मी का अकेला ऐसा टैंक है जो गाइडेड मिसाइल भी फायर...

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, दो हफ्ते में चल पड़े लकवाग्रस्त चूहे, जगी लाखों मरीजों के लिए उम्मीद

बर्लिनवैज्ञानिकों को रिसर्च के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता मिली है। पैरालिसिस यानी लकवे का इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों ने चूहों पर सकारात्मक...
- Advertisement -

Latest Articles

बुरी खबर! महंगी हो गई Tata की कारें, जानें कितनी बढ़ी कीमतें

नई दिल्ली।टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने अपने ग्राहकों झटका देते हुए अपनी कई कारों की कीमतों को 26,000 रुपये तक महंगा कर दिया...

Republic Day Parade: ईस्टर्न लद्दाख में चीन से मुकाबले के लिए तैनात टी-90 टैंक दौड़ेगा राजपथ पर, जानें क्यों है खास

हाइलाइट्स:भारतीय सेना का मुख्य बैटल टैंक है टी-90 , 50-60 किलोमीटर/घंटा है रफ्तारआर्मी का अकेला ऐसा टैंक है जो गाइडेड मिसाइल भी फायर...

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, दो हफ्ते में चल पड़े लकवाग्रस्त चूहे, जगी लाखों मरीजों के लिए उम्मीद

बर्लिनवैज्ञानिकों को रिसर्च के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता मिली है। पैरालिसिस यानी लकवे का इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों ने चूहों पर सकारात्मक...

5 महीनों में 2 देशों के 8 शहर घूमने के बाद बेटी से मिले अजिंक्य रहाणे, लिखा ये मेसेज

मुंबई ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज जीतकर स्वदेश लौटे भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के खिलाड़ी इस समय अपने घर पर आराम कर...