Sunday, February 28, 2021

IND vs ENG Chepauk Pitch: पिच बिल्कुल अलग, पहले दिन से स्पिन मिलने की उम्मीद: अजिंक्य रहाणे

- Advertisement -


चेन्नै
विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में जगह बनाने की कोशिश कर रही भारतीय टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे को उम्मीद है कि इंग्लैंड के खिलाफ शनिवार से यहां खेले जाने वाले दूसरे मैच में चेपॉक मैदान की पिच पहले दिन से ही स्पिन गेंदबाजों के लिए मददगार होगी। भारतीय टीम चार मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला 227 रन से हार गयी थी।

उस मैच में खेल के पहले दो दिनों तक गेंदबाजों को सपाट पिच से कोई मदद नहीं मिली थी लेकिन शनिवार से शुरू होने वाले मैच की पिच पर घास और नमी बहुत कम है जिससे स्पिनरों को मदद मिलने की संभावना है। रहाणे ने कहा, ‘हां, यह (पिच) पूरी तरह से अलग दिख रही है। मुझे यकीन है कि यह पहले दिन से स्पिनरों के लिए मददगार होगा लेकिन जैसा कि मैंने शुरूआती टेस्ट मैच से पहले कहा था, आपको इंतजार करना होगा और देखना होगा कि पहले सत्र में यह कैसे रहता है।’

पढ़ें- कब और कहां LIVE देख सकते हैं भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा टेस्ट

उन्होंने कहा, ‘लेकिन हमें पहले टेस्ट को भूलना होगा। हम इन परिस्थितियों को अच्छी तरह से जानते हैं और हमें कल अपना सर्वश्रेष्ठ खेल खेलना होगा।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए अच्छी बात यह है कि अक्षर (पटेल) फिट है लेकिन मैं आपको अभी नहीं बता सकता कि अंतिम 11 में कौन होगा। हमारे सभी स्पिनर अच्छे है और जिसे भी मौका मिलेगा वह अच्छा करेगा।’

रहाणे ने पहले टेस्ट मैच के दौरान स्पिनरों के प्रदर्शन का बचाव करते हुए कहा कि उनकी पहली पारी के प्रदर्शन को लेकर टीम चिंतित नहीं है। उन्होंने कहा, ‘अगर आप पहले दो दिनों के खेल के देखेंगे तो पिच से स्पिनरों और तेज गेंदबाजों को कोई मदद नहीं मिल रही थी। हमने 190 ओवर गेंदबाजी की और उनके 578 रन को देखकर कहा जा सकता है कि हमने अच्छी गेंदबाजी की।’

पढ़ें- विराट कोहली की टेस्ट कप्तानी पर बहस, बचाव में इस दिग्गज ने संभाला मोर्चा

उन्होंने कहा, ‘उस पिच से कोई मदद नहीं मिल रही थी। अगर आप दूसरी पारी को देखेगें तो हमारे सभी स्पिनरों ने अच्छी गेंदबाजी की खासकर अश्विन ने। पहले टेस्ट में 27 नो बॉल और ऑस्ट्रेलिया दौरे से अभी तक 31 कैच छूटने के बारे में पूछे जाने पर भारतीय उपकप्तान ने कहा कि इस पर सुधार के लिए काम जारी है।

उन्होंने कहा, ‘हम वास्तव में उन चीजों पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं जो हमारे नियंत्रण में हैं। भारत में, बल्लेबाज के करीब क्षेत्ररक्षक के लिए कैच पकड़ना वास्तव में महत्वपूर्ण है और कभी-कभी ऐसी चीजें (कैच छूटना) होती हैं। कोई भी इसे जानबूझकर नहीं करता है, यह सब आपके भरोसे के बारे में है।’ उन्होंने कहा, ‘नो बॉल से हम सभी निराश है और गेंदबाज इस पर काम कर रहे है।’



Source link

इसे भी पढ़ें

पिच विवाद पर इंग्लैंड के कोच जोनाथन ट्रॉट ने दिया ऐसा जवाब, भारतीय फैंस हो जाएंगे फिदा

अहमदाबादमोटेरा की पिच बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं थी लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजी कोच जोनाथन ट्रॉट का मानना है कि अपने कौशल पर...

भारतीय टीम की मानसिकता 90 के दशक की ऑस्ट्रेलियाई टीम की तरह: डेरेन गॉ

लंदनइंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज डेरेन गॉ ने मौजूदा भारतीय टीम की तुलना 1990 के दशक की ऑस्ट्रेलियाई टीम की मानसिकता से करते...
- Advertisement -

Latest Articles

पिच विवाद पर इंग्लैंड के कोच जोनाथन ट्रॉट ने दिया ऐसा जवाब, भारतीय फैंस हो जाएंगे फिदा

अहमदाबादमोटेरा की पिच बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं थी लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजी कोच जोनाथन ट्रॉट का मानना है कि अपने कौशल पर...

भारतीय टीम की मानसिकता 90 के दशक की ऑस्ट्रेलियाई टीम की तरह: डेरेन गॉ

लंदनइंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज डेरेन गॉ ने मौजूदा भारतीय टीम की तुलना 1990 के दशक की ऑस्ट्रेलियाई टीम की मानसिकता से करते...