Saturday, April 17, 2021

IPL 2021: बढ़ता जा रहा है कोरोना का गहरा साया, आईपीएल 2021 को लेकर BCCI से हुई चूक?

- Advertisement -


मुंबई
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) और इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के हितधारकों के सामने बड़ी चुनौती है। लीग का 14वां सीजन अभी शुरू भी नहीं हुआ है और कोविड-19 के बढ़ते मामलों के चलते चिंता की लकीरें बढ़ने लगी हैं।

क्रिकेटर्स से लेकर फ्रैंचाइजी, अधिकारी, ग्राउंडमैन, असोसिएटेड स्टाफ और सलाहाकार-रोजाना नंबर्स जुड़ते जा रहे हैं। शेड्यूल के हिसाब से आईपीएल शुरू होने में सिर्फ दो दिन हैं लेकिन सवाल यह है कि क्या मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए क्या यह पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत चलता रहेगा या नहीं?

इस बात पर अभी कुछ भी निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता है। शुक्रवार को इस सीजन का पहला मैच चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स के बीच खेला जाएगा। और हर बार की तरह इस बार भी आईपीएल को लेकर बहुत कुछ दांव पर लगा है।

चेन्नई में मंगलवार को कोरोना के 3645 नए मामले सामने आए। कोरोना से चेन्नई में मंगलवार को 15 मौतें हुईं। साथ ही शहर में ऐक्टिव केसों की संख्या 25 हजार तक पहुंचने को है। मामले को करीब से देख रहे लोगों का कहना है कि चुनाव खत्म होने के बाद इन नंबर्स में इजाफा हो सकता है। तमिलनाडु क्रिकेट असोससिएशन (टीएनसीए) हालांकि अपनी ओर से कोई कमी नहीं छोड़ना चाहता है। पहले चरण में चेन्नई को चार टीमों- मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, सनराइजर्स हैदराबाद और कोलकाता नाइट राइडर्स की मेजबानी करनी है।

दिल्ली जैसे कुछ अन्य मेजबानों ने अभी से सावधानियां बरतनीं शुरू कर दी हैं। दिल्ली में इस साल के आईपीएल के सात मैच होने हैं जिसकी शुरुआत 28 अप्रैल से होगी।

दिल्ली ऐंड ड्रिस्ट्रिक्ट क्रिकेट असोसिएशन (DDCA) ने 10 अप्रैल से स्टेडियम बंद करने का फैसला किया है ताकि ग्राउंड स्टाफ को बबल में रखा जा सके। कर्मचारियों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट इस्तेमाल करने से मना किया है और साथ ही वह अपने कर्मचारियों को पहले राउंड का वैक्सीनेशन लगवा चुका है।

मुंबई एक बार फिर कोविड-19 की लहर का केंद्र बना हुआ है। साल 2020 में आईपीएल को यूएई ले जाकर बीसीसीआई ने काफी सुर्खियां बटोरीं लेकिन इस सीजन में उसे कई परेशानियों का सामना कर पड़ रहा है। कुछ चीजें ऐसी हैं जो BCCI कोविड से बेहतर तरीके से निपटने के लिए कर सकता था।

बोर्ड ने एक बार फिर आईपीएल को यूएई ले जाने के बारे में विचार किया था। लेकिन आखिर में इसे भारत में ही करवाने का फैसला किया गया। कई बीसीसीआई के कुछ अपने हितधारकों का मानना है कि लीग को यूएई में करवाना बेहतर विकल्प था।

अगर मैदान पर दर्शकों को आना ही नहीं है तो फिर छह वेन्यू की जरूरत क्या है?

स्वास्थ्य दिशा-निर्देश काफी देरी से जारी किए गए। क्या गाइडलाइंस में कमी थी या आइसोलेशन विंडो तोड़ी गई? विदेशी खिलाड़ियों को वीजा देने की प्रक्रिया में भी देरी हुई।

बीसीसीआई ने इस बार किसी सुरक्षा और तकनीकी फर्म की सेवाएं नहीं लीं जैसी उसने बीते साल ली थीं। यूएई में हुए आईपीएल में यूके की कंपनी रेस्ट्राटा (Restata)ने सेंट्रल बायो-बबल तैयार किया था।

अभी तक जीपीएस ट्रेकिंग नहीं की गई है। यूएई में टूर्नमेंट की शुरुआत से पहले ही ऐसा कर लिया गया था ।

होटल की बुकिंग- चाहे बीसीसीआई की ओर से हो- या फ्रैंचाइजी की ओर से- या फिर दोनों ने मिलकर की हो- उसे चुनने का तरीका बहुत ही अनियिमत रहा। उदाहरण के लिए, मुंबई में एक फ्रैंचाइजी स्टेडियम से 10 किलोमीटर दूर रह रहा है। और वह होटल भी एक कर्मशल कॉम्पलैक्स का हिस्सा है।

क्या यह पता लगाने का कोई तरीका है कि फ्रैंचाइजी आने से पहले होटल स्टाफ क्वॉरंटीन हुआ था अथवा नहीं?

हर किसी के सवाल में अब यही एक सवाल है कि क्या यह एडिशन अब एक टाइम बम की तरह हो गया है? फ्रैंचाइजी की ओर से अपनी टीम के खिलाड़ियों के कोविड-19 पॉजीटिव होने की सार्वजनिक रूप से घोषणा करने के बाद भी बीसीसीआई ने इस मुद्दे पर अभी तक कुछ नहीं बोला है।

मंगलवार को टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे के भी कोरोना पॉजीटिव होने की खबर सामने आई। वह मुंबई इंडियंस के स्कॉउट और विकेटकीपिंग सलाहकार हैं।

दो अन्य फ्रैंचाइजी के प्रतिनिधियों ने कहा, ‘अगर मुंबई इंडियंस के कैंप में ऐसा हो सकता है तो कोई भी कहीं भी सुरक्षित नहीं है। वे इस तरह की परिस्थिति के लिए हमेशा दोगुने तैयार रहते हैं। उनका बायोबबल 1 मार्च को मुंबई में तैयार हो गया था और तब से वे इसी में सफर कर रहे हैं। पिछले साल यूएई की तरह इस बार भी चेन्नई में उन्होंने एक फाइव स्टार होटल की पूरी विंग ही बुक कर ली थी। अगर वे अब इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि किरण मोरे को कोरोना कैसे हो गया तो अन्य सभी के लिए और भी चिंता की बात है।’

मामले को करीब से देखने वाले एक सूत्र ने बताया, ‘फिलहाल हमें हर दिन की परिस्थिति को लेकर आगे बढ़ना होगा। रोजाना टेस्ट करो। किसी भी कीमत पर बायो-बबल मत तोड़ो। कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग के लिए बेहतर तरीके आजमाए जाएं। खुद जागरूक रहें। इन बुनियादी बातों को जरूर फॉलो किया जाना चाहिए। और कोई रास्ता नहीं है।’

Coronavirus in IPL (कोरोना वायरस का आईपीएल पर साया)



Source link

इसे भी पढ़ें

Dostana 2: कार्तिक आर्यन के सपॉर्ट में कंगना रनौत, कहा- सुशांत की तरह लटकने पर मजबूर मत करो

बॉलिवुड ऐक्टर कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) इस समय सुर्खियों में हैं। दरअसल, वह धर्मा प्रॉडक्शन की फिल्म 'दोस्ताना 2' (Dostana 2) से बाहर...

SA vs PAK 4th T20I: फखर जमां की तूफानी फिफ्टी, पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को 3 विकेट से हराया

सेंचुरियनपाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को चौथे टी-20 इंटरनैशनल मुकाबले में 3 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही उसने 4 मैचों की सीरीज...

कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए भारत वकील नियुक्त करे: पाकिस्तान

इस्लामाबादपाकिस्तान ने मौत की सजा का सामना कर रहे कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए शुक्रवार को भारत से एक बार फिर...
- Advertisement -

Latest Articles

Dostana 2: कार्तिक आर्यन के सपॉर्ट में कंगना रनौत, कहा- सुशांत की तरह लटकने पर मजबूर मत करो

बॉलिवुड ऐक्टर कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) इस समय सुर्खियों में हैं। दरअसल, वह धर्मा प्रॉडक्शन की फिल्म 'दोस्ताना 2' (Dostana 2) से बाहर...

SA vs PAK 4th T20I: फखर जमां की तूफानी फिफ्टी, पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को 3 विकेट से हराया

सेंचुरियनपाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को चौथे टी-20 इंटरनैशनल मुकाबले में 3 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही उसने 4 मैचों की सीरीज...

कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए भारत वकील नियुक्त करे: पाकिस्तान

इस्लामाबादपाकिस्तान ने मौत की सजा का सामना कर रहे कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए शुक्रवार को भारत से एक बार फिर...