Monday, June 14, 2021

Pooja Rani Gold Medal: एशियाई मुक्केबाजी में पूजा रानी ने जीता लगातार दूसरा गोल्ड, मेरी कॉम सहित 3 को सिल्वर मेडल

- Advertisement -


नई दिल्ली
भारत की पूजा रानी ने दुबई में चल रहे एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में अपना खिताब बचाने में सफल रही हैं, जबकि एमसी मेरी कॉम सहित 3 अन्य महिला बॉक्सरों ने सिल्वर मेडल जीते। पूजा ने रविवार को दुबई में जारी 2021 एएसबीसी एशियाई महिला एवं पुरुष मुक्केबाजी चैंपियनशिप के 75 किग्रा के फाइनल मुकाबले में उजबेकिस्तान की मावलुदा मोल्दोनोवा को एकतरफा अंदाज में हराते हुए भारत को पहला गोल्ड मेडल दिलाया। साल 2019 में खिताब जीतने वाली और ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ कर चुकीं पूजा रानी ने मोल्दोनोवा को 5-0 से हराया।

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) और यूएई बॉक्सिंग फेडरेशन द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित की जा रही इस प्रतिष्ठित चैंपियनशिप में भारत ने आठ ब्रॉन्ज और दो रजत के बाद पहला गोल्ड जीता है। भारतीय दल अब तक 15 मेडल जीत चुका है। बैंकॉक में 2019 में भारत ने 13 मेडल (2 गोल्ड, 4 रजत और 7 ब्रॉन्ज) जीते थे और तालिका में तीसरे स्थान पर रहा था।

Mary Kom Silver Medal: मेरी कॉम एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में हारीं, सिल्वर मेडल अपने नाम किया
हरियाणा के भिवानी की पूजा का एशियाई चैम्पियनशिप में यह चौथा मेडल, जबकि लगातार दूसरा गोल्ड मेडल है। इंचियोन एशियाई खेलों में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकीं पूजा ने बैंकॉक में 2019 में गोल्ड जीता था जबकि इससे पहले 2015 में ब्रॉन्ज और 2012 में रजत मेडल जीता था। इससे पहले, छह बार की विश्व चैम्पियन एमसी मेरी कॉम को अपना प्रेरण स्रोत्र मानने वाली भारत की निडर युवा मुक्केबाज लालबुतसाही को फाइनल में हार मिली।

इससे पहले, छह बार की विश्व चैम्पियन एमसी मेरी कॉम को अपना प्रेरण स्रोत्र मानने वाली भारत की निडर युवा मुक्केबाज लालबुतसाही को फाइनल में हार मिली। लालबुतसाही का 64 किग्रा के फाइनल में सामना कजाकिस्तान की मिलाना साफरोनोवा से हुआ था। मेरी कॉम को 51 किग्रा वर्ग के फाइनल में दो बार की विश्व चैंपियन नाजि़म काजैबे ने 3-2 से हराया। मेरी कॉम ने एशियाई चैम्पियनशिप में सातवीं बार हिस्सा लेते हुए दूसरी बार रजत पदक जीता है। अनुपमा (81+) को भी सिल्वर मेडल मिला।

आठ भारतीय मुक्केबाज सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), विकास कृष्ण (69 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा), जैस्मीन (57 किग्रा), साक्षी चौधरी (64 किग्रा), मोनिका (48 किग्रा), स्वीटी (81 किग्रा) और वरिंदर सिंह (60 किग्रा) को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। इन सबने देश के लिए कांस्य पदक हासिल किया है। उल्लखनीय है कि भारत, उज्बेकिस्तान, मंगोलिया, फिलीपींस और कजाकिस्तान जैसे मजबूत मुक्केबाजी राष्ट्रों सहित 17 देशों के 150 मुक्केबाजों ने इस चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया।



Source link

इसे भी पढ़ें

French Open: जोकोविच ने जीत के बाद युवा फैन को गिफ्ट किया रैकेट, रिऐक्शन हुआ वायरल

हाइलाइट्स:जोकोविच ने सितसिपास को फ्रेंच ओपन के फाइनल में हराकर जीता 19वां ग्रैंड स्लैम52 साल के इतिहास में जोकोविच सभी ग्रैंड स्लैम दो...
- Advertisement -

Latest Articles

French Open: जोकोविच ने जीत के बाद युवा फैन को गिफ्ट किया रैकेट, रिऐक्शन हुआ वायरल

हाइलाइट्स:जोकोविच ने सितसिपास को फ्रेंच ओपन के फाइनल में हराकर जीता 19वां ग्रैंड स्लैम52 साल के इतिहास में जोकोविच सभी ग्रैंड स्लैम दो...