Monday, June 14, 2021

Tokyo Olympics Countdown : साई ने कुश्ती टीम के विदेशी कोच टेमो कजाराशविली को किया बर्खास्त, ये है वजह

- Advertisement -


नई दिल्ली
भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) ने शुक्रवार को घोषणा की कि उसने जॉर्जिया के कुश्ती कोच टेमो कजाराशविली को कार्य मुक्त कर दिया है। टेमो को इसलिए उनके पदक से बर्खास्त किया गया है क्योंकि कोई भी ग्रीको रोमन पहलवान तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाई नहीं कर सका।

भारत ने सोनीपत में राष्ट्रीय शिविर में देश के ग्रीको रोमन पहलवानों को ट्रेनिंग देने के लिए फरवरी 2019 में टेमो को ओलिंपिक तक नियुक्त किया था। चार पुरुष फ्री स्टाइल पहलवानों और इतनी ही महिला पहलवानों ने ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाई कर लिया है लेकिन देश को ग्रीको रोमन वर्ग में एक भी कोटा नहीं मिला।

भारतीय पहलवानों ने ओलिंपिक में अब तक कितने पदक जीते हैं ? दीजिए ऐसे ही कुछ आसान सवालों के जवाब और जीतिए इनाम

भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) ने एक बयान में कहा, ‘किसी भी भारतीय ग्रीको रोमन पहलवान ने ओलिंपिक खेलों के लिए क्वॉलिफाई नहीं किया है जिससे साई ने विदेशी कोच टेमो कजाराशविली को उनके अनुबंध से कार्य मुक्त कर दिया है।’

इसके अनुसार, ‘यह फैसला भारतीय कुश्ती महासंघ की सिफारिशों के बाद लिया गया है। उनका साई से अनुबंध फरवरी 2019 से लेकर ओलिंपिक तक था।’ भारतीय कुश्ती महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर ने फैसले का बचाव किया।

उन्होंने कहा, ‘हमने उन्हें विशेषकर ओलिंपिक के लिए ही नियुक्त किया था लेकिन कोई नतीजे नहीं मिले। उनका अनुबंध इस साल अगस्त तक था लेकिन तब तक कोई राष्ट्रीय शिविर ही नहीं है तो वह अब क्या करते जब ध्यान तोक्यो ओलिंपिकक पर लगा हुआ है इसलिए हमने साई को बताया कि उनकी सेवाओं की जरूरत नहीं है।’

तोमर ने कहा कि वे ओलिंपिक के बाद नए विदेशी कोचों को नियुक्त करेंगे। महासंघ ने ईरान के हुसैन करीमी (फ्री स्टाइल) और अमेरिका के एंड्रयू कुक (महिलाओं के) को यह कहते हुए उनके कार्यकाल के बीच में ही बर्खास्त कर दिया कि उनके नखरे उठाना मुश्किल हो गया था।



Source link

इसे भी पढ़ें

जोकोविच जैसा कोई नहीं: हर ग्रैंडस्लैम दो बार जीतने वाले ओपन ऐरा के पहले खिलाड़ी

हाइलाइट्स:नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के नए चैंपियन4 घंटे चले फाइनल में सितसिपास को हराया52 साल में चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीतने वाले...

भारत ने पिछले 3 साल में बांग्लादेश को को सौंपे 577 घुसपैठिए , इस साल अब तक 100 को वापस भेजा गया

नई दिल्लीभारत ने साल 2018 से अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश को अधिकतम 577 घुसपैठिए सौंपे हैं, जो दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग...
- Advertisement -

Latest Articles

जोकोविच जैसा कोई नहीं: हर ग्रैंडस्लैम दो बार जीतने वाले ओपन ऐरा के पहले खिलाड़ी

हाइलाइट्स:नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के नए चैंपियन4 घंटे चले फाइनल में सितसिपास को हराया52 साल में चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीतने वाले...

भारत ने पिछले 3 साल में बांग्लादेश को को सौंपे 577 घुसपैठिए , इस साल अब तक 100 को वापस भेजा गया

नई दिल्लीभारत ने साल 2018 से अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश को अधिकतम 577 घुसपैठिए सौंपे हैं, जो दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग...